Sponsored

Charlie Munger Death News; वारेन बफेट के दाहिने हाथ चली मुंगेर का 99 वर्ष की आयु में निधन

Charlie Munger Death News: अगर आप भी स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं तो आपने वारेन बफेट के बारे में जरूर सुना होगा, यह स्टॉक मार्केट के जाने वाले गुरु माने जाते हैं, और इन्होंने स्टॉक मार्केट में काफी ज्यादा निवेश भी किया हुआ है अभी के समय में सबसे भरोसेमंद और विश्वास पात्र बर्कश्यार हैथवे को संभालने वाले, चली मुंगेर का देहांत हो चुका, वह भी वारेन बफेट के सबसे अच्छे दोस्त थे इनका निधन मंगलवार सुबह इनकी उम्र 99 वर्ष थी आज हम आपको चार्ली मुंगेर के बारे में डिटेल में जानकारी देने वाले हैं कि इनका बिजनेस कौन संभालने वाला है इसके साथ उनकी संपत्ति कहां-कहां है इसके बारे में बात करने वाले हैं अगर आप भी जानना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को पढ़ते रहिए।

अभी हाल फिलहाल में वर्क शायर ने कहा है कि मुंगेर कैलिफोर्निया के एक अस्पताल में शांतिपूर्वक मृत्यु हो गई और उनके 100 साल पूरे होने वाले थे 1 जनवरी को मुंगेर के 100 साल पूरे हो जाते मृत्यु को लेकर किसी भी प्रकार का कोई कारण नहीं बताया जा रहा है इसके साथ ही क शेयर के वह 93 वर्षीय अध्यक्ष और मुख्य अधिकारी वारेन बफेट अपने बयान में कहा कि चली की प्रेरणा ज्ञान और भागीदारी के बिना इस कंपनी को चलाना काफी ज्यादा मुश्किल रहेगाकाफी ज्यादा मुश्किल रहेगा।

1970 के दशक से कंपनी के कार्यकारी

मुंगेर 1978 में बर्कश्यार हैथवे के उपाध्यक्ष बने थे जिन्होंने वह महान ने प्रश्न का स्थित समूह की राजधानी आवंटित करने के लिए वापस के साथ मिलकर बेहतरीन काम किया और जब भी कोई गलती होती तो उन्हें तुरंत बताया जाता है इसके साथ ही लाइक स्टार और गार्डनर रूसो और किन के पार्टनर और लंबे समय से कंपनी के शेरधारक थॉमस रूसो ने कहा कि यह एक बहुत बड़ा झटका है और उन्निवेश को के लिए एक बड़ा शून्य छोड़ देगा जिन्होंने अपने शब्दों और विचारों और गतिविधियों को मुंगेर के अर्थ दृष्ट के आधार पर तैयार किया गया है।

Read Also: Tata Technologies ने फाइनल किया ऑफर प्राइस, लिस्टिंग से पहले जान लीजिए GMP

जितने भी निवेशक है उन सभी की उम्मीद को लेकर वारेन बुफेट और निवेश के जगत डाटा आमतौर पर मुंगेर की मौत को उत्सुकता से महसूस कर रहे हैं इसके साथ ही न्यू जर्सी में चेरी लेने इन्वेस्टमेंट के पार्टनर ब्रेकर ने कहा बफेट के साथ एक टीम के रूप में वह निश्चित रूप से सबसे महानिवेशकों में से एक थे मुझे यकीन है किया बफेट के व्यक्तिगत रूप से बहुत लग रहा है।

चक्रवर्ती और पुनर्निवेश में रखते थे विश्वास

मुंगेर को बफेट की खरीदारी का संचालन माना जाता था इसके साथ ही चली ने महसूस किया कि उनकी उचित कीमतों पर बहुत अच्छी व्यवसाय खरीदना चाहिए जिसकी चलते उन्हें चक्रवर्ती कभी फायदा मिलता है और निरंतर रूप से लगदी प्रवाह को फिर से निवेश कर सकते हैं जिसके चलते उन्हें काफी अच्छे रिटर्न मिलते थे और काफी अच्छी ग्रोथ भी देखने को मिलती थी।

इसके साथ ही उन्हें हमेशा अपनी व्यवसाय से प्यार था और उन्हें अपना व्यवसाय चलाना काफी ज्यादा अच्छा लगता था और वह निवेश की दुनिया में भी काफी ज्यादा बेहतरीन परफॉर्मेंस कर गए ऐसे भी अगर कोई भी इनकी बातों को मानता है तो बहुत ही आसानी से अपने निवेश के करियर में सफल हो सकता है।

अभी के समय में 93 वर्षीय वारेन बफेट का कहना है कि वह कंपनी को नहीं संभाल सकते हैं जिसके चलते उनके हटने के बाद एबल मुख्य कार्यकारी बनेंगे इसके बाद उन्हें ही इस कंपनी को देखना पड़ेगा इसके साथ ही व्यवसाय में बीएसएफ रोल रेड कर बीमा योजना और भी कई सारी सुविधाओं का संचालन किया जाएगा और कंपनी को नियमित रूप से संचालित किया जाएगा।

इसके साथ ही कंपनी के पास जितने भी एप्पल के स्टॉक है उन सभी को मैनेज किया जाएगा, और कंपनी उनको अपने काम के लिए इस्तेमाल करेगी।

Sponsored

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sponsored